सामाजिक कार्यकर्ता श्री सिया सिंह चौहान ने कांडी पेयजल योजना के लिए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को पत्र लिखा

Last Updated : Jul 19, 2020   Views : 158

देहरादून: कांडी:-

श्री सिया सिंह चौहान सामाजिक कार्यकर्ता जौनपुर टिहरी गढ़वाल ने मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को एक पत्र लिखकर ग्राम कांडी और अठाजुला के लिए पेयजल पंपिंग योजना के बारे में विस्तारपूर्वक बताया गया।

श्री चौहान जी ने लिखा है :- लम्बे संघर्षों एवं कई शहादतों के बाद जब उत्तराखण्ड राज्य अस्तित्व में आया, तो यहां के जनमानस में अपार उल्लास व सुनहरे भविष्य के सपने उमड़े थे। अलग राज्य की अवधारणा के आधार थे वे सपने, जिसमें यहां की भौगोलिक परिस्थिति के अनुरूप गाँवों के विकास की योजना, युवाओं के लिए रोजगार के बेहतर अवसर, राज्य को स्वावलंबी बनाने की दिशा में पहाड़ के पानी और जवानी का सदुपयोग ।
ग्राम कांडी व आस-पास के गाँवों के जनमानस व युवाओं ने भी सपना देखा था कि अपना अलग राज्य बनने पर जरूर उनके गाँव में पानी पहुँचेगा और उनकी समस्याओं का निराकरण होगा। सपने यह भी देखे थे कि गाँव में पानी पहुँचेगा तो यहां की माता-बहिनों के सिर का बोझ कम होगा, काश्तकार और नौजवान, खेती, पशुपालन, बागवानी, सब्जी उत्पादन को एक नया स्वरूप देते हुए अपनी आजीविका को सुदृढ़ करेंगे और स्वावलंबन की दिशा में आगे बढेंगे ।

जल जीवन है :-
जीवन से जुड़ी अपनी पेयजल की माँग को लेकर इस क्षेत्र की जनता पिछले बीस वर्षों से शासन सत्ता की परिक्रमा करते रहे हैं । इस कालांतर में कई सरकारें आयीं और गयीं। राज्य बनने के इन 20 वर्षों में हमें 8 मुख्यमंत्री मिले हैं। सभी ने अपने-अपने सत्ता काल में कांडी में पंपिंग योजना के माध्यम से पानी पहुँचाने का भरोसा दिया, सार्वजनिक मंचों से घोषणाएं भी की, लेकिन समस्या निवारण की जगह ये भरोसा व घोषणाएं राजनीतिक प्रपंच ही अधिक साबित हुए हैं ।
21 मार्च 2017 को जब आपने 8वें मुख्यमंत्री के रूप में उत्तराखंड सरकार की कमान संभाली, तो फिर से इस क्षेत्र की जनता की आशाएं पुनः बलबती हुई कि अब शायद उनकी समस्या का अवश्य ही निराकरण होगा । यद्यपि, अब हम 2020 में पहुँच गये हैं लेकिन इस क्षेत्र की जनता अब भी आशा भरी नजरों से आपको निहार रही है।

पहाड़ी क्षेत्रों में खेती, बागवानी, सब्जी उत्पादन, पशुपालन और बुनियादी ढांचागत मजबूती देने की दिशा में आप चिंतनशील हैं और समय-समय पर अपने संकल्प को मीडिया और सोशल मीडिया के माध्यम से जाहिर भी करते हैं । आप ही तो कहते हैं कि गाँव मजबूत होंगे तो उत्तराखण्ड मजबूत होगा और पलायन रुकेगा। लेकिन अब आप ही बताइए कि, गाँव में पानी ही नहीं होगा तो कैसे मजबूती आ पायेगी!

सरकार द्वारा नव संचालित लोक हितकारी योजना –‘जल जीवन मिशन’- के तहत उत्तराखण्ड के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में हर परिवार को पीने का पानी उपलब्ध कराना और 1 रूपये में पानी का कनेक्शन देने की सरकार की घोषणा से पुनः यह आशा सुदृढ़ हुई है कि पेयजल से वंचित ग्रामीण क्षेत्र को इस बार अवश्य जल उपलब्ध होगा।

उन्होंने मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से निवेदन किया कि कांडी-अठजुला पेयजल पंपिंग योजना को अपनी स्वीकृति देते हुए इस क्षेत्र की जनता के सपने को साकार करने की कृपा करें।

Related Post

1 Response to सामाजिक कार्यकर्ता श्री सिया सिंह चौहान ने कांडी पेयजल योजना के लिए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को पत्र लिखा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Join Us On Facebook