प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने खटीमा गोलीकांड में शहीद राज्य आंदोलनकारियों को श्रद्धांजलि अर्पित की

Last Updated : Sep 01, 2020   Views : 119

उत्तराखण्ड: 

मुख्यमंत्री ने क्या कहा : खटीमा गोलीकांड में शहीद राज्य आंदोलनकारियों को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ। उत्तराखण्ड राज्य निर्माण में अपने प्राणों की आहुति देने वाले राज्य आंदोलनकारियों के बलिदान को प्रदेश हमेशा याद रखेगा। राज्य सरकार शहीद आंदोलनकारियों के सपनों के अनुरूप समृद्ध और प्रगतिशील उत्तराखंड बनाने के लिए संकल्पबद्ध है।

आज ही के दिन उत्तराखंड के खटीमा में 1 सितम्बर 1994 को तत्कालीन उत्तर प्रदेश सरकार ने निहत्थे राज्य आंदोलनकारियों पर गोलिया बरसाई जिसमे की 8 आंदोलनकारी शहीद हो गए थे और कई लोग घायल हो गए थे। वहा का ये मंजर देख कर सभी लोग हद्प्रद थे। क्युकी सभी आंदोलनकारी शांतिपूर्ण तरीके से पर्दशन कर रहे थे, पुलिस ने बिना चेतावनी के पहले तो रबड़ की गोलिया बरसाई फिर फायरिंग सुरु कर दी। जिसमे कुछ लोगो वही पर शहीद हो गए और काफी लोग घायल हो गये।

पृथक राज्य की मांग की लिए जुलूस में माता- बहने, छोटे बच्चे, नौजवान और बुजुर्ग लोग थे और सभी लोग शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस द्वारा अचानक की गई गोलीबारी से वह पर अपरातफ़री मच गई। उस घटना के करीब छह साल बाद राज्य आंदोलकारियों का सपना पूरा हुआ और उत्तर प्रदेश से अलग होकर नौ नवंबर 2000 को उत्तराखंड के रूप में नया राज्य अस्तित्व में आया।

उत्तराखंड के इतिहास में आन्दोलन के दमन की यह घटना है. इस घटना में शहीद आन्दोलनकारियों के नाम हैं :
1.  प्रताप सिंह
2.  सलीम अहमद
3.  भगवान सिंह
4.  धर्मानन्द भट्ट
5.  गोपीचंद
6.  परमजीत सिंह
7.  रामपाल
8. भुवन सिंह

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Join Us On Facebook